51 साल की उम्र में अमेरिका के 16 वे राष्ट्रपति बनने वाले Abraham Lincoln कई संघर्षों के बाद उन्हें यह पद मिला था। Abraham Lincoln वह शख्स है, जिसने अपनी लाइफ में इतने फेलियर देखने के बाद भी कभी हार नही मानी

और वह लगातार प्रयास करते रहे। Abraham Lincoln America के सबसे महान राष्ट्रपति थे। इन्होंने अमेरिका में दास प्रथा का अंत किया था।

आज इस आर्टिकल में हम Abraham Lincoln Biography In Hindi, Abraham Lincoln Death, Abraham Lincoln 16th President, Abraham Lincoln History, Abraham Lincoln Family, Abraham Lincoln Quotes, अब्राहम लिंकन का जीवन परिचय & More के बारे में पढेगे.

अब्राहम लिंकन कौन थे?

नामअब्राहम लिंकन
व्यवसायवकील, सेना का अधिकारी, किसान, स्टेट्सपर्सन
जन्म12 फरवरी 1809, लारु काउंटी, केंटकी, संयुक्त राज्य अमेरिका
मृत्यु15 अप्रैल 1865, पीटरसन हाउस, वाशिंगटन, डी.सी., संयुक्त राज्य अमेरिका
पिता का नामथॉमस लिंकन
माता का नामनैन्सी हैंक्स लिंकन
पढ़ाईलिंकन स्व-शिक्षित थे
हाईट1.93 मीटर
जीवनसाथीमैरी टॉड लिंकन (1842-1865 तक)
बच्चेरॉबर्ट टॉड लिंकन, विलियम वालेस लिंकन, टैड लिंकन, एडवर्ड बेकर लिंकन
पुरस्कारगिल्डर लेहरमैन लिंकन पुरस्कार, रिचर्ड गिल्डर और लुईस लेहरमैन

अब्राहम लिंकन का जन्म 12 फरवरी 1809 ईसवी को लारू काउंटी, कैंटकी, संयुक्त राज्य अमेरिका में एक अश्वेत गरीब परिवार में एक झोपड़ी में हुआ था। वे प्रथम रिपब्लिकन थे, जो अमेरिका के राष्ट्रपति बने थे।

इनके पिता का नाम थॉमस लिंकन था। और इनकी माता का नाम नैंसी हैंक्स लिंकन था। Abraham की एक बड़ी बहन थी। जिनका नाम Sarah Lincoln था। Abraham Lincoln के पिता एक किसान और साथ ही वह एक अच्छे बढ़ई भी थे।

और Abraham Lincoln के दादाजी का नाम बहे कैप्टेन लिंकन था। यह एक बिरजीनिया निवासी थे। जो 1780 में केंटकी सयुक्त राज्य अमेरिका में आकर रहने लगे थे। 1786 ईसवी में थॉमस लिंकन ने अपनी आंखों से अपने पिता बहे कैप्टेन लिंकन की हत्या देखी थी।

यह हत्या एक शिकारी गिरोह ने की थी। जिसके बाद से पूरे परिवार की जिम्मेदारी अब थॉमस पर आ गई थी। और फिर उन्होंने कई जगह काम करके अपने परिवार का भरण पोषण किया।

अब्राहम लिंकन का जीवन बहुत ही कठिन संघर्षों से गुजरा था। जब अब्राहम लिंकन 2 साल के थे। तो जमीनी विवाद के कारण इन्हें अपना घर छोड़ना पड़ा था। लेकिन समस्याएं इनका पीछा नहीं छोड़ रही थी। जब इनकी उम्र 7 साल की थी, तो इनको अपना दूसरा घर भी छोड़ना पड़ा।

और 9 साल की उम्र में इनके जीवन का सबसे महत्पूर्ण हिस्सा यानी की इन्होंने अपनी मां को खो दिया था। मां की मृत्यु के बाद अब्राहम पूरी तरह से अंदर से टूट गए थे। उनके जीवन में बहुत समस्याएं आई। लेकिन अब्राहम ने कभी भी हार नही मानी और लगातार प्रयास करते रहे।

इसे भी पढ़े: Bal Gangadhar Tilak Biography in Hindi, Death, Wife, Family, Wiki & More

Abraham Lincoln बचपन से ही किताबो में अपना अधिक समय बिताते थे। Abraham Lincoln के पिता बहुत ही गरीब थे। दो वक्त का खाना भी बड़ी मुश्किल से जुटा पाते थे। Abraham Lincoln को पढ़ने का बहुत शौक था।

लेकिन उनके पिता की गरीबी के कारण वह पढ़ नहीं सके। और उनके पिता चाहते थे। की Abraham Lincoln मेरे साथ काम करे। इन्होंने कोई स्कूल जाकर कोई शिक्षा नहीं ली। बल्कि स्वयं अध्ययन करके लॉ की डिग्री प्राप्त की थी।

Abraham Lincoln को बचपन से ही लोगो की मदद करना काफी पसंद था। Abraham Lincoln को कुल्हाड़ी चलाने का अनुभव बचपन से था। इसी अनुभव का इस्तेमाल करते हुए। Abraham Lincoln ने एक नाव बनाई थी। जिससे उन्होंने अपना काम चालू किया। और लोगो को एक साइड से दूसरे किनारे ले जाने का काम करने लगे।

और बचे हुए टाइम में लिंकन लोगो के खेतो में काम करके पैसे कमाता था। और कुछ समय के बाद अब्राहम ने एक दुकान में काम किया। उसके बाद उसे एक गांव में एक पोस्ट मास्टर की नौकरी मिल गई।

पोस्ट मास्टर की नौकरी करते हुए, लिंकन ने लोगो की समस्याएं देखी। और फिर राजनीति में आने का निर्णय लिया। उसके बाद अब्राहम ने पोस्ट ऑफिस की नौकरी छोड़ दी और विधायक का चुनाव लडा लेकिन बुरी तरह हार के कारण अब उसके पास पैसे भी नहीं बचे।

वो कहते है न कि, जिनके दिल अच्छे होते है, अक्सर उनकी किस्मत खराब होती है। लिंकन के जीवन से समस्याएं जाने का नाम नहीं ले रही थी। सब कुछ उसके खिलाफ था। 25 साल की उम्र में Abraham Lincoln की जिस लड़की से शादी होने वाली थी। एक बीमारी की वजह से उस लड़की की मौत हो गई। इसके बाद यह काफी डिप्रेशन में चले गए थे।

और अपने आप को मौत से काफी दूर रखा था। कुछ समय के बाद Abraham ने अपने दोस्त की मदद से विधायक चुनाव फिर से लड़ा। और वह इस चुनाव को जीतने वाले सबसे युवा विधायक बन गए थे। विधायक बनने के बाद उनके पास पावर आ गई थी। जिसकी वजह से वह विधान सभा में खुलकर अपना पछ रखते थे। और हमेशा वह सत्य की राह पर चले है।

हालांकि यह एक वकील थे। और लोगो का केस कम पैसों में निपटा देते थे। इनके पास जो केस आते थे। वह उन्हें कोर्ट में जाने से बेहतर दोनो पक्षों में बाहर ही समझौता करवा देते थे। वह इसलिए ऐसा करते थे, की लोगो के रुपए कम खर्च हो। क्युकी अगर केस कोर्ट में जायेगा तो लोगो का काफी नुकसान होगा। और इन्होंने अपने जीवन में कभी भी झूठा मुकदमा नहीं लड़ा था।

इसे भी पढ़े: Sindhutai Sapkal Biography in Hindi, Age, Death, Husband, Family, Wiki & more

वकालत में रहते हुए भी इन्होंने लोगो की काफी मदद की है। यह लोगो से नाजायज पैसे नही लेते थे। लिंकन और उसके सहयोगी वकील ने मिलकर। एक बार एक मानसिक रोगी महिला की जमीन पर कब्जा करने वाले एक दबंग आदमी को अदालत से सजा दिलवाई थी। इस केस के जीतने के बाद उनके मित्र ने महिला से पूरी फीस ले ली थी।

जब यह बात अब्राहम को पता चली तो उन्होंने अपने दोस्त से कहा की में यह फीस नही लूंगा। तुम अपने हिस्से की फीस ले लो। और मेरे हिस्से की फीस उस महिला को वापस कर दो। इनकी ईमानदारी के बहुत से किस्से है। एक बार एक व्यक्ति ने अपने केस के लिए Abraham को 25 डॉलर भेजे। तो इन्होंने उसमे से 15 डॉलर लेके, 10 डॉलर उसको वापस कर दिए थे। और कहा की इतने रुपए मेरे लिए पर्याप्त है। उन्होंने इस फील्ड में 20 साल तक काम किया था।

Abraham Lincoln ने America से दास प्रथा का अंत करने का निर्णय ले लिया था। दास प्रथा का मतलब होता है। किसी व्यक्ति को आप अपना गुलाम बनाकर उससे काम करवाना और उसे उसकी मजदूरी न देना। ऐसा ही अमेरिका में होता था। अमेरिका में गोरे लोग दक्षिणी राज्यों के बड़े खेतों पर उनका अधिकार था। दक्षिणी अमेरिका के लोग अफ्रीका से काले लोगो को अपने खेत में काम करने के लिए बुलाते थे। उनसे अपने खेतो पर काम करवाते थे। और उन्हें दास बनाकर अपने पास रख लेते थे।

उत्तरी अमेरिका राज्यों के लोग इस गुलाम प्रथा के खिलाफ थे। और इस प्रथा को समाप्त करना चाहते हैं। क्यूंकि अमेरिका का जो संविधान है। वह आदमी की समानता पर आधारित है। इसलिए वहा पर इस तरह किसी को गुलाम बनाना कानून के खिलाफ था। लेकिन दक्षिणी अमेरिका के लोग इस कानून को ना मानकर अपने अलग देश बनाने की मांग करने लगे थे। Abraham Lincoln चाहते थे। की सभी मिलजुलकर एक राष्ट्र बनकर रहे।

इतनी हार और समस्याओं के बाद Abraham Lincoln ने 51 वर्ष की आयु में साल 1860 में अमेरिका के राष्ट्रपति पद के लिए चुनाव लडा। और इस चुनाव में उन्होंने वो कर दिखाया जो उनका सपना था। आखिरकार वह अमेरिका के 16 वे राष्ट्रपति बने। और उन्होंने अपने जीवन की सबसे बड़ी सफलता हासिल की। यह रिपब्लिकन पार्टी से थे।

6 नवंबर 1860 को अमेरिका के 16 वे राष्ट्रपति बनने के बाद Abraham Lincoln ने अमेरिका को गृह युद्ध से बाहर निकाला और एकजुट राष्ट्र बनाया। और सबसे महत्वपूर्ण कार्य उन्होंने दास प्रथा का अंत किया। दास प्रथा में इनका बहुत ही महत्वपूर्ण योगदान था। जिसके लिए राष्ट्रीय ही नहीं अंतर्राष्ट्रीय इनका सम्मान करते है।

8 फरवरी 1861 को Abraham Lincoln ने अलाबामा राज्य के मॉटेगोमोरी शहर में स्थित “द कॉनफिडरेट स्टेट्स ऑफ अमेरिका” इस जगह को एक स्वतंत्र संघराज्य घोषित किया। Abraham Lincoln ने 1864 में पुनः चुनाव लडा और आसानी से जीत हासिल की। यादवी जंग अब्राहम के खिलाफ थी। लेकिन चुनाव जीतने के बाद उनका कोई ज्यादा प्रभाव न पड़ा। Abraham Lincoln ने 31 जनवरी 1865 को तेरावी घटना को ठीक किया।

अब्राहम लिंकन की पत्नी और बच्चो के बारे में

1842 ईसवी में Abraham Lincoln ने मेरी टॉड नाम की लड़की से शादी कर ली थी। जिससे उनके चार पुत्र हुए थे। लेकिन उनके तीन पुत्रों की मृत्यु किसी कारणवश हो गई थी। लेकिन 1843 में जन्मा उनका एक ही पुत्र जीवित रह सका था।

अब्राहम लिंकन की मृत्यु

14 अप्रैल 1865 राष्ट्रपति Abraham Lincoln और उनकी पत्नी मेरी टॉड वाशिंगटन डीसी में एक थिएटर में एक नाटक देखने आए थे। जहां पर Abraham Lincoln को एक मशहूर अभिनेता जॉन वाइक्स बूथ ने गोली मार दी थी। और अगले ही दिन 15 अप्रैल 1865 को Abraham Lincoln की मौत हो गई थी।

इससे हमे पता चलता है। इंसान अगर चाहे ले की उसको यह करना है। तो पूरी प्रकृति उसके विरुद्ध होती है। लेकिन कुछ समय के लिए। इसलिए कभी भी हमे हार नही माननी चाहिए। और निरंतर प्रयास करते रहना चाहिए। सफलता जरूर मिलेगी। इतनी कठिनाई का सामना करने के बाद भी Abraham Lincoln ने हार नहीं मानी।

Abraham Lincoln द्वारा कहे गए अनमोल वचन

  1. Abraham Lincoln कहते है, अगर मुझे एक पेड़ को काटने के लिए छह घंटे का समय दिया जाता है। तो सबसे पहले में चार घंटे कुल्हाड़ी को तेज करने में समय खर्च करूंगा। और फिर 2 घंटे में उस पेड़ को काट दूंगा।
  2. Abraham Lincoln कहते है, आमतौर पर लोग उतना ही खुश होते हैं, जितना वे अपने दिमाग को इसकी इजाजत देते हैं।
  3. Abraham Lincoln कहते है, अपने भविष्य की भविष्यवाणी करने का सबसे अच्छा तरीका इसे बनाना है।
  4. Abraham Lincoln कहते है, मैं जो भी हूं या होने की उम्मीद करता हूं, इसके लिए मैं अपनी प्यारी मां के लिए एहसानमंद हूं।
  5. Abraham Lincoln कहते है, लगभग सभी पुरुष विपरीत परिस्थितियों में खड़े हो सकते हैं, लेकिन यदि आप किसी पुरुष के चरित्र का परीक्षण करना चाहते हैं, तो उसके हाथो में पावर दें।
  6. Abraham Lincoln कहते है, जीतना मेरे बस में नहीं है, लेकिन एक सच्चा इंसान बनना मेरे बस में है। सफलता पाना मेरे बस में नहीं है, लेकिन मेरे पास जो क्षमता है उसके साथ प्रयास करना और जीना मेरे बस में है।
  7. Abraham Lincoln कहते है, लोगों को इंतजार करने से चीजें मिल तो सकती हैं, लेकिन उनको उतना ही मिलता है, जितना प्रयास करने वाले छोड़ देते हैं।
  8. Abraham Lincoln कहते है, हमेशा ध्यान रखें कि, सफल होने के लिए आपका अपना संकल्प किसी भी अन्य की तुलना में अधिक महत्वपूर्ण है।
  9. Abraham Lincoln कहते है, मैं तैयारी करूंगा, एक दिन ऐसा जरूर आएगा जब मुझे अवसर मिलेगा।
  10. Abraham Lincoln कहते है, जो लोग किसी में बुराई तलाशते हैं उन्हें उसमें बुराई ही मिलती है।

इसे भी पढ़े: Pandit Birju Maharaj Biography in Hindi, Age, Death, Wife, Family, Wiki & more

About FAQ

Q. Abraham Lincoln age?

Ans. Abraham Lincoln’s age was 56 years.

Q. Abraham Lincoln, wife?

Ans. Abraham Lincoln’s wife’s name was Mary Todd Lincoln.

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है. आप सभी विजिटर को Abraham Lincoln के बारे में पूरी जानकारी मिल ही गई होगी. यदि आप लोगो को कोई डाउट है. तो आप हमें कमेंट करके बता सकते है. यदि आप लोगो को यह लेख अच्छा लगा है. तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Note : यह जानकारी विभिन्न वेबसाईट और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर गहराई से रिसर्च करके एकत्रित की गई है। यदि इस जानकारी में किसी भी प्रकार की त्रुटि पाई जाती है. तो इसके लिए bioknowledge.net को आप तुरंत कमेंट करके इन्फॉर्म करे.

VISIT WEBSITE
Rate this post

Earth Edition

Hello friends, This is Earth Edition Team. And we are professional content writers. We hope you guys liked this article. We have tried our best to give you complete information. If you still have any problems,...

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *