Francis Bacon एक महान राजनीतिक, दार्शनिक और लेखक थे। जिनकी आज लोग सराहना करते है। कवि एलेक्जैण्डर पोप ने फ्रांसिस बेकन को इंग्लैंड का सबसे बुद्धिमान व्यक्ति बताया था।

आज इस आर्टिकल में हम Francis Bacon Biography in Hindi, Francis Bacon Age, Francis Bacon Wife, Francis Bacon Family, Francis Bacon Death, Francis Bacon Death Reason & More के बारे में पढ़ेंगे।

फ्रांसिस बेकन कौन थे?

नामफ्रांसिस बेकन
प्रसिद्ध हैराजनीतिक, दार्शनिक और लेखक
जन्म22 जनवरी 1561, स्ट्रेंड लंदन इंग्लैंड में
मृत्यु9 अप्रैल 1626, हाईगेट, मिडिलसेक्स, इंग्लैंड में
1626 के अनुसार उम्र65 वर्ष
पिता का नामसर निकोलस बेकन
माता का नामऐनी (कुक) बेकन

Francis Bacon एक राजनीतिक, दार्शनिक और लेखक थे। जिनका जन्म 22 जनवरी 1961 को स्ट्रैंड लंदन इंग्लैंड में हुआ था। Francis Bacon के पिता का नाम सर निकोलस बेकन था। और Francis Bacon की मां का नाम ऐनी (कुक) बेकन था। जो उनके पिता की दूसरी बीवी थी।

फ्रांसिस बेकन की एक माँसी थी। जिनकी शादी विलियम सेसिल, बैरन बर्घले प्रथम से हुई थी। और बर्घले फ्रांसिस बेकन के मौसा बन गए थे। फ्रांसिस बेकन जब 65 वर्ष के थे। तो उनकी मृत्यु 9 अप्रैल 1626 को हाईगेट, मिडिलसेक्स, इंग्लैंड में हो गई थी।

इसे भी पढ़े : William Shakespeare Biography in Hindi, Age, Wife, Family, Death, Death Reason, Quotes & More

फ्रांसिस बेकन की एजुकेशन क्वालिफिकेशन के बारे में

स्कूलN/A
कॉलेजकैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी और ग्रेज इन से
एजुकेशन क्वालिफिकेशनवकालत की

फ्रांसिस बेकन ने अपनी शुरुआती पढ़ाई इंग्लैंड के स्कूल कंप्लीट की थी। उसके बाद इनका सिलेक्शन 1577 ईस्वी में फ्रांस के एक इंग्लिश कॉलेज में एडमिशन हो गया था। परंतु उनके पिता की मृत्यु के बाद वह 1579 में लंदन वापस आ गए। वापस आने के बाद फ्रांसिस बेकन ने कैम्ब्रिज यूनिवर्सिटी और ग्रेज इन से अपनी पढ़ाई कंप्लीट की थी। जहा से इन्होंने अपनी वकालत की पढ़ाई कंप्लीट की थी।

फ्रांसिस बेकन की पत्नी और बच्चो के बारे में

वैवाहिक स्थितिशादीशुदा थे
पत्नी का नामएलिस बर्नहैम

फ्रांसिस बेकन एक शादीशुदा व्यक्ति थे। जिनकी शादी 1604 में एलिस बर्नहैम से हुई थी।

फ्रांसिस बेकन के करियर के बारे में

फ्रांसिस बेकन एक उच्च वर्गीय परिवार में जन्मे थे। जिन्होंने अपने करियर की शुरुआत एक वकील के तौर पर की थी। वकालत के साथ साथ उन्हे पॉलिटिकल में भी इंट्रेस्ट होने लगा।

जिसके बाद उन्हें 1584 ईस्वी में ब्रिटिश लोकसभा का सदस्य नियुक्त किया गया। उन्होंने इस पद पर 1614 ईस्वी तक बखूबी अपना कर्तव्य निभाया था। इस दौर में इन्होंने रानी एलिज़ाबेथ के लिए बहुत से महत्वपूर्ण कार्य किए।

उनका योगदान अत्यंत महत्वपूर्ण रहा था। वह समय समय पर महत्वपूर्ण राजनीतिक प्रश्नों पर एलिज़ाबेथ को महत्वपूर्ण सलाह देते रहते थे। लेकिन उनकी सलाह को रानी एलिज़ाबेथ ने नही मानी थी।

खबरो के मुताबिक यदि रानी एलिज़ाबेथ ने फ्रांसिस बेकन की बात उस समय मान ली होती, तो बाद में शाही और संसदीय अधिकारों के बीच होने वाले विवाद कभी नही होते। लेकिन उनकी बात को न मानकर उन्होंने हमेशा ही उनका अपमान किया था।

फ्रांसिस बेकन इतने योग्य होते हुए भी उनकी योग्यता को ठीक से नहीं समझा गया। साथ ही लार्ड बर्ले ने भी फ्रांसिस बेकन को अपने पुत्र के मार्ग में बाधा मानकर सदा उनका विरोध किया था। उनका किसी ने भी समर्थन नहीं किया।

इसके बाद फ्रांसिस बेकन राजनैतिक पद लाभ प्राप्त करने के उद्देश्य से लार्ड एसेक्स के गुट में शामिल हो गये। बाद में जब लार्ड एसेक्स पर रानी के खिलाफ बगावत का आरोप लगाया गया, तब फ्रांसिस बेकन ने न केवल उनका साथ छोड़ दिया बल्कि उनके खिलाफ गवाही भी दी।

जेम्स प्रथम के शासन काल में फ्रांसिस बेकन ने ड्यूक ऑव बकिंघम के साथ मिलकर बहुत ही कम समय में “सालिसिटर जनरल“, “अटार्नी जनरल“, “लार्ड कीपर” और “लार्ड चान्सलर” जैसे महत्वपूर्ण पदों को प्राप्त कर लिया था। जब फ्रांसिस बेकन “लार्ड चान्सलर” के पद पर थे, तो उनके खिलाफ घूस लेने का आरोप लगाया गया था। उनके आरोप को सही साबित किया गया। और उन्हें जेल भी भेज दिया गया था।

फ्रांसिस बेकन एक राजनीतिक के साथ साथ एक लेखक भी थे। उन्होंने लेटिन भाषा में अनेक ग्रंथ लिखे है, जैसे “1605 में द एडवान्समेन्ट ऑव लर्निग“, “1627 में द न्यू अटलान्ट्इस“, “1620 में नोवम् आर्गनम्” तथा “1623 में डि आगमेन्टाइस” जैसे ग्रंथ लिखे है।

फ्रांसिस बेकन को आधुनिक अंग्रेजी निबंध के जनक के रूप में याद किया जाता है। फ्रांसिस बेकन ने सन् 1597 में 59 निबंधों का प्रथम संग्रह प्रकाशित किया था। और सन् 1625 में इसका संशोधित एवं संक्षिप्त संस्करण छपा था।

इसे भी पढ़े : Iulia Vantur Biography in Hindi, Age, Boyfriend, Husband, Height, Family, Income, Net Worth & More

फ्रांसिस बेकन की मृत्यु

फ्रांसिस बेकन की मृत्यु 65 वर्ष की आयु में 9 अप्रैल 1626 ईस्वी को हाईगेट, मिडिलसेक्स, इंग्लैंड में हो गई थी। कवि एलेक्जैण्डर पोप ने फ्रांसिस बेकन के सम्पूर्ण जीवन को चार शब्दों में परिभाषित किया है। उन्होंने फ्रांसिस बेकन को ‘मानव जाति के सबसे अधिक बुद्धिमान, प्रकाशमान और लांछित व्यक्ति” के रूप में प्रदर्शित किया है।

About FAQ

Q. Francis Bacon Death?

Ans. Francis Bacon died on 9 April 1626.

Q. Francis Bacon Wife?

Ans. Francis Bacon’s wife’s name was Alice Burnham.

Q. What is Francis Bacon most famous for?

Ans. Francis Bacon was a great politician, philosopher and writer.

निष्कर्ष

हमें उम्मीद है. आप सभी विजिटर को Francis Bacon के बारे में पूरी जानकारी मिल ही गई होगी. यदि आप लोगो को कोई डाउट है. तो आप हमें कमेंट करके बता सकते है. यदि आप लोगो को यह लेख अच्छा लगा है. तो इसे अपने दोस्तों के साथ जरुर शेयर करे.

Note : यह जानकारी विभिन्न वेबसाईट और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर गहराई से रिसर्च करके एकत्रित की गई है। यदि इस जानकारी में किसी भी प्रकार की त्रुटि पाई जाती है. तो इसके लिए bioknowledge.net की कोई भी जिम्मेदारी नहीं है.

VISIT WEBSITE
Rate this post

Earth Edition

Hello friends, This is Earth Edition Team. And we are professional content writers. We hope you guys liked this article. We have tried our best to give you complete information. If you still have any problems,...

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *