riteish-deshmukh
riteish-deshmukh

रितेश देशमुख और जेनेलिया की कंपनी देश एग्रो आई सवालों के घेरे में विवाद यह है कि लातूर जिला केंद्र सरकारी बैंक द्वारा अक्टूबर 2021 और जुलाई 2022 में दिए गए 116 करोड़ रुपए का लोन रितेश देशमुख और जेनेलिया को दिया गया
जिसमें विवाद है कि सरकारी बैंकों ने रितेश देशमुख को ऋण देने के लिए कोई अनियमितता तो नहीं की है यह पता लगाने के लिए जांच के आदेश दिए गए । मंत्री अतुल सावे द्वारा इस बात की जानकारी बुधवार को दी गई है।

ritesh genelia BioKnowledge
img-livehindustan

रितेश देशमुख और जेनेलिया फंसे 116 करोड़ और जमीन के विवाद

आरोप भाजपा के नेताओं द्वारा लगाया गया है कि ‘देश एग्रो प्राइवेट लिमिटेड’ को सरकारी बैंक द्वारा ऋण देने में अनियमितता बरती गई है, इस बारे में सहकारिता मंत्री सावे ने कहा कि मुझे एमआईडीसी के बारे में कुछ भी पता नहीं है पर भाजपा के लातूर जिला अध्यक्ष गुरुनाथ मांगे ने इस बारे में पत्र लिखा है |परंतु सावे द्वारा यह भी कहा गया है कि मैंने जांच का आदेश इसलिए दिया है कि कहीं बैंकों ने ऋण देने में कोई अनियमितता तो नहीं की है।

riteish deshmukh BioKnowledge
img Credit- bollywoodshaadis

आरोप है कि खेती के लिए उपयोग में लाए जाने बाली जमीन 2.55 लाख वर्ग मीटर की है उसके भूखंड का आवंटन कर दिया गया जोकि रितेश देशमुख और जेनेलिया के नाम पर। भाजपा के नेताओं द्वारा आरोप यह है कि और भी कंपनियां है जिन्हें भूमि नहीं दी गई और रितेश देशमुख को दी गई है जिसमें सत्ता का गलत इस्तेमाल हुआ है जिस कंपनी का नाम है “देश एग्रो ” जो कि साल 2021 में स्थापित हुई थी।और 2021 में ही उन्हें जमीन दे दी गई।और साल 2022 में उन्हें 116 करोड़ का ऋण दिया गया बैंकों द्वारा।

रितेश देशमुख और जेनेलिया पर 116 करॊड़ और जमीन आवंटन का आरोप लगा है अगर यह साबित हो जाता है तो रितेश देशमुख और जेनेलिया बहुत बड़ी मुसीबत में फंस सकते हैं।

Rate this post

Earth Edition

Hello friends, This is Earth Edition Team. And we are professional content writers. We hope you guys liked this article. We have tried our best to give you complete information. If you still have any problems,...

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *