Image Source-MSN
Image Source-MSN

दोस्तों, क्या आपको याद है? क्या आपने पिछले बार 2000 का नोट कब देखा था या फिर जब आपने ATM से पैसे निकाले तो 2000 का नोट उसमें निकला था। आपको शायद याद भी नहीं होगी। लेकिन क्या आपने ऐसा कभी सोचा कि आखिर 2000 के नोट क्यों नहीं दिख रहे हैं?

दरअसल मैं आपको बता दूँ की इसके ऊपर RTI ने एक बहुत ही बड़ा खुलासा किया है। RTI ने बताया कि पिछले तीन सालों में 2000 के नोट छापे ही नहीं गए है। इसके पीछे बड़ी वजह यह बताई जाती है की 2000 के नोट्स को जमा करना आसान होता है।और उससे छिपा के करप्शन करना बहुत ही ज्यादा आसान होता है।

दोस्तों IANS न्यूज़ एजेंसी के तरफ से एक रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 3 साल में 2000 के नोट सर्क्युलेट ही नहीं हो रहे हैं। दरअसल, IANS न्यूज़ एजेंसी ने RTI से कुछ सवाल पूछे थे और उसी के जवाब में RTI ने यह खुलासा किया है। आपको तो पता ही होगा जब 8 नवंबर 2016 को 500 और 1000 रुपये के नोटों को जब बैन किया गया था। तो उस टाइम 500 के साथ साथ 2000 के नए नोट भी लॉन्च हुए थे।

Image Source-MSN

आखिर 3 साल में 2000 के नोट कितने छपे?

दोस्तों, मैं आपको बता दूँ की RTI ने साल 2019-20, 2020-21 और 2021-22 के दौरान 2000 के नोट छापा ही नहीं था।

लेकिन आपको मैं यह भी बता दूँ कि RBI ने बस 2016-17 में ₹2000 के नोट करीब 35,429.91 करोड़ नोट छापे थे।

उसके बाद सत्र 2017-18 में आरबीआई ने नोट काफी कम छापे थे, लेकिन फिर भी उन्होंने ये गारा 1115.07 करोड़ 2000 के नोट छाप दिए थे। और उसी के साथ उन्होंने 2018-19 सत्र में 2000 के नोट और भी ज्यादा कम छापे थे। उन्होंने 2000 का नोट बस 466.90 करोड़ ही छापे थे।

नकली नोट है असली कारण।

आरबीआई के आंकड़ों के मुताबिक 2016 से 2020 के बीच में नकली 2000 के नोटों में काफी ज्यादा बढ़ोतरी पाई गई है। दरअसल, 2016 में जब नकदी नोट पकड़े गए थे तो उस टाइम बस नकली नोटों की संख्या 2772 थे। वहीं नकली नोट साल 2020 में करीब 2,44,834 हो गए हैं। दोस्तों, नकली नोटों की संख्या 2017 में 74,898 थे।

इसी के साथ नकली नोटों की संख्या 2018 में घट गयी थी। 2018 में नकली नोटों की संख्या 54,776 हो गई थी। लेकिन फिर मैं ये 2019 में यह आंकड़ा। 90,566 हो चुका था। और 2020 में आपको पता ही है की 2,44,834 हो चुका है।

2000 के नकली नोट की क्वालिटी बेकार थी।

दोस्तों इसी के साथ आरबीआई ने यह भी कहा है कि जो जो लोगों ने नकली नोट छापे थे उसमें 90% नकली नोटों की क्वालिटी बहुत ही बेकार थी। और अगर आपको नहीं पता नोटों की क्वालिटी क्या होती है? तो वो कॉपी करने का जो पेपर होता है, वो उन्होंने फोटोकॉपी वाला यूज़ कर रखा था।

दरअसल, आपको बता दूँ कि आरबीआई एक स्पेशल पेपर पे और एक स्पेशल पैटर्न में नोटों को प्रिंट करता है। जिसमें बहुत से विज़िबल सिक्युरिटी फीचर्स होते हैं, जिनको आम जनता भी नकली नोट और असली नोट में फर्क पता कर सकते हैं।

Image Source-MSN

दोस्तों अगर आपको और नोटों की सिक्युरिटी फीचर्स के बारे में जानना है तो आप आरबीआइ को ऑफिशल वेबसाइट पे जाके या पता कर सकते हैं। उनकी वेबसाइट पे आपको सारी जानकारी मिल जाएगी और आप आसानी से नकली नोट और असली नोट के बीच में अंतर जान पाएंगे। दरअसल आरबीआइ रेग्युलरली टाइम टु टाइम अलग अलग निर्देश जारी करता है इसमें आरबीआई यह बताता है कि आप कैसे नकली नोटों से बच सकते हैं।

Stories: Benefits of Leg Massage

दोस्तों, आरबीआई ने एक टीम भी बना रखा है जो नकली नोटों और जाली नोटों को मार्केट में सर्कुलेट होने से रोकते हैं

तो दोस्तों बस आज के इस आर्टिकल के लिए इतनाही उम्मीद है की आपको कुछ 2000 के नोटों के बारे में जानकारी मिली होगी और हम आपसे उम्मीद करते हैं की आप सावधान रहें नकली नोटों से। इससे आप खुद को भी और अपने आसपास वाले लोगों को भी सुरक्षित रखेंगे। और अगर आपको आरबीआइ 2000 के नोट देखने को मिल रहा है मार्केट में तो आप बहुत ही ज्यादा Lucky है, क्योंकि अब ज्यादातर दुकानदारों में 2000 के नोट आपको नहीं देखने को मिलेंगे, तो कुछ बचा कर रखें। क्या पता अब 2000 के नोट गायब भी हो जाए? लेकिन फिर भी आज के लिए इतना ही फिर मिलते हैं। अगले आर्टिकल में धन्यवाद।

Rate this post

Earth Edition

Hello friends, This is Earth Edition Team. And we are professional content writers. We hope you guys liked this article. We have tried our best to give you complete information. If you still have any problems,...

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *